Warning: Undefined variable $id in /home/dharataltv/public_html/wp-content/themes/gp-sports-pro/functions.php on line 21

Warning: Undefined variable $id in /home/dharataltv/public_html/wp-content/themes/gp-sports-pro/functions.php on line 22

Warning: Undefined array key "gpDynamicDateType" in /home/dharataltv/public_html/wp-content/themes/gp-sports-pro/functions.php on line 24

किसान ने जुगाड़ लगाकर बनाया ऐसा जुगाड़ की आसान हुआ खेती का काम, इस जुगाड़ू यंत्र से 5 मजदूरों के बराबर होगा काम

By Vikash Beniwal

Published on:

भारतीय कृषि परिदृश्य में तकनीकी उन्नति और आधुनिक यंत्रों का महत्व बढ़ता जा रहा है। परंतु वित्तीय बाधाओं के कारण कई किसान इन आधुनिक सुविधाओं का लाभ उठाने में असमर्थ रहते हैं। ऐसे में चतरा के पत्थलगड़ा प्रखंड के नावाडीह डमौल पंचायत के निवासी किसान देवचंद दांगी ने अपनी जुगाड़ तकनीक से एक नई मिसाल कायम की है।

जुगाड़ का चमत्कार

देवचंद दांगी ने पुरानी साइकिल के फ्रेम का उपयोग कर एक मल्टीपरपज कृषि यंत्र विकसित किया है, जो कि पांच मजदूरों के बराबर काम कर सकता है। इस यंत्र के उपयोग से खेती के कई कार्य जैसे जुताई, निराई, गुड़ाई और मेड़ बनाने में समय और लागत दोनों की बचत होती है। देवचंद का यह नई तकनीक न केवल पर्यावरण के अनुकूल है बल्कि यह आर्थिक रूप से भी व्यावहारिक है।

कम लागत में अधिक उत्पादन

देवचंद द्वारा विकसित इस यंत्र की लागत मात्र 3,000 रुपये है जिसे वह स्थानीय किसानों को उपलब्ध कराने के लिए तैयार करते हैं। इस यंत्र की सहायता से किसान न केवल अपने खेती के खर्च को कम कर सकते हैं बल्कि उत्पादन की मात्रा और गुणवत्ता में भी बढ़ोतरी कर सकते हैं।

जैविक खेती की ओर अग्रसर

देवचंद ने रासायनिक उर्वरकों का उपयोग न करके जैविक खेती की ओर एक महत्वपूर्ण कदम बढ़ाया है। उनके द्वारा खेतों में नीम के पत्ते, धतूरा और अन्य पौधों के पत्ते मिलाकर तैयार किया गया कीटनाशक मिश्रण फसलों पर छिड़काव के लिए उपयोग किया जाता है जिससे उत्पादन स्वास्थ्यवर्धक और सुरक्षित होता है।

प्रेरणा का स्रोत

देवचंद दांगी की यह अनोखी पहल न केवल उनके समुदाय में बल्कि पूरे जिले में किसानों के लिए प्रेरणा का स्रोत बनी है। उनकी यह तकनीक अन्य किसानों को भी आधुनिक खेती की ओर अग्रसर होने के लिए प्रोत्साहित कर रही है और यह दिखाती है कि कैसे नई तकनीक और स्वदेशी जुगाड़ से भी बड़ी समस्याओं का समाधान संभव है।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.