home page

Solar Power Plant: अब सौलर पॉवर प्लांट लगवाने पर मिल रही है 90 प्रतिशत सब्सिडी, सरकार को बिजली बेचकर कर सकते है मोटी कमाई

Solar Power Plant: आज के युग में जब पर्यावरण संरक्षण (Environmental Protection) और ऊर्जा की स्थायी उपलब्धता (Sustainable Energy) हमारी प्राथमिक चिंताओं में से एक है.
 | 
Government subsidy for solar power plant

Solar Power Plant: आज के युग में जब पर्यावरण संरक्षण (Environmental Protection) और ऊर्जा की स्थायी उपलब्धता (Sustainable Energy) हमारी प्राथमिक चिंताओं में से एक है. वही दूसरी तरफ सौर ऊर्जा (Solar Energy) एक वरदान साबित हो रही है।

यह न केवल पर्यावरण के लिए हितकारी है, बल्कि इससे आर्थिक लाभ भी प्राप्त होता है। अगर आप अपने नलकूप को सौर ऊर्जा से चलाने का विचार कर रहे हैं और बिजली बेचकर आय (Income from Electricity) अर्जित करना चाहते हैं, तो आपके लिए ग्रिड प्रणाली (Grid System) का सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करना एक बढ़िया ऑप्शन होगा।

आसान आवेदन प्रक्रिया और अनुदान की सुविधा

इस योजना के अंतर्गत आपको केवल ऑनलाइन आवेदन (Online Application) करके परियोजना की कुल लागत का 10 प्रतिशत जमा करना होता है। राज्य और केंद्र सरकार (State and Central Government) की ओर से शेष 90 प्रतिशत राशि अनुदान के रूप में प्रदान की जाती है, जिससे यह प्रक्रिया आर्थिक रूप से भी कामयाब सिद्ध होती है।

टारगेट और प्रॉग्रेस

वर्तमान वर्ष 2023-24 के लिए जिले में 70 सौर ऊर्जा संयंत्रों (Solar Energy Plants) को स्थापित करने का टारगेट है, जिसमें से 35 पहले ही स्थापित किए जा चुके हैं। आवेदनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, अब नए आवेदनों के संयंत्र 2024-25 में स्थापित किए जाएंगे।

सरकार की भूमिका और बजट में बढ़ोतरी

केंद्र सरकार ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए बजट (Increased Budget) में वृद्धि की है। इसके चलते अब घरों की छतों पर स्थापित सौर पैनलों (Solar Panels) से बिजली का उत्पादन करना और उसे ग्रिड में बेचना और भी सरल हो गया है। इससे न केवल आपकी बिजली की जरूरतें पूरी होंगी बल्कि आप एक आय का स्रोत भी तैयार कर सकते हैं।

सब्सिडी में बढ़ोतरी

नेडा (NEDA) के परियोजना अधिकारी के अनुसार नए बजट के लागू होने के बाद अनुदान (Subsidy) की राशि में भी बढ़ोतरी होगी। जहाँ पहले 1 से 3 किलोवाट तक के संयंत्रों पर 14,588 रुपये का अनुदान दिया जाता था, वहीं अब प्रति किलोवाट 18,000 रुपये का अनुदान मिलेगा।

आर्थिक लाभ की गणना

यदि आप 7.5 हार्सपावर (Horsepower) का ट्यूबवेल्ल मोटर चलाना चाहते हैं, तो इसके लिए लगभग 6,23,909 रुपये का प्लांट लगेगा, जिसमें से केवल 62,391 रुपये आपको जमा करने होंगे और शेष राशि अनुदान के रूप में प्राप्त होगी। इसी प्रकार अगर 3 हार्सपावर का मोटर चलाना है तो 25,544 रुपये जमा होंगे और 2,65,439 रुपये का प्लांट लगेगा।