home page

PM Ujjwala Yojana: मोदी सरकार इस योजना के तहत महिलाओं को दे रही है मुफ्त में सिलेंडर, आवेदन करने के लिए इन डॉक्युमेंट की पड़ेगी जरूरत

PM Ujjwala Yojana: भारत सरकार ने महिलाओं के कल्याण और सशक्तिकरण (Empowerment) के उद्देश्य से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PM Ujjwala Yojana) की शुरुआत की है।
 | 
pm ujjwala yojana upsc

PM Ujjwala Yojana: भारत सरकार ने महिलाओं के कल्याण और सशक्तिकरण (Empowerment) के उद्देश्य से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PM Ujjwala Yojana) की शुरुआत की है। इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे (BPL) और ऊपर (APL) दोनों राशन कार्ड धारक परिवारों की महिलाओं को फ्री में गैस सिलेंडर (Free Gas Cylinder) प्रदान किया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य धुआं मुक्त रसोई (Smoke-Free Kitchen) प्रदान करना है।

योजना के लाभ और पात्रता मानदंड

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) के तहत ₹1600 की वित्तीय सहायता (Financial Assistance) प्रदान की जाती है। इसका लक्ष्य 2023 तक देश भर के सभी गरीब परिवारों को एलपीजी गैस कनेक्शन (LPG Connection) उपलब्ध कराना है। पात्रता मानदंड के अनुसार लाभार्थी महिला की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए और उसे गरीबी रेखा से नीचे आना चाहिए।

सब्सिडी की पेशकश और बजटीय आवंटन

केंद्र सरकार ने लाभार्थियों को बड़ी राहत देते हुए घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर (Domestic LPG Cylinder) पर सब्सिडी (Subsidy) की पेशकश की है। इससे रसोई गैस की लागत कम होगी। प्रत्येक 14.2 किलोग्राम एलपीजी सिलेंडर पर 200 रुपये की सब्सिडी मिलेगी, जो सालाना 12 सिलेंडरों तक सीमित है। इस फैसले से सरकार पर वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कुल 6,100 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2023-24 के लिए 7,680 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा।

आवेदन प्रक्रिया और आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के लिए आवेदन (Application) ऑनलाइन (Online) या ऑफलाइन (Offline) दोनों तरह से किया जा सकता है। आवेदक महिला होनी चाहिए और उसकी आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। आवश्यक दस्तावेजों में आधार कार्ड, वोटर आईडी, निवास प्रमाण पत्र, बीपीएल राशन कार्ड, मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साइज फोटो शामिल हैं।

लाभार्थियों की पहचान और विस्तार

इस योजना का दायरा 80 मिलियन गरीब परिवारों तक बढ़ाया गया है, जिसमें अनुसूचित जाति (SC), अनुसूचित जनजाति (ST), अति पिछड़ा वर्ग (OBC), चाय और पूर्व-चाय बागान जनजातियाँ, वनवासी, द्वीप और नदी द्वीपों में रहने वाले लोग, और एसईसीसी परिवार शामिल हैं। इस योजना के तहत प्रदान किया जाने वाला एलपीजी कनेक्शन बीपीएल परिवार की महिला सदस्यों के नाम पर होगा।