10 करोड़ से ज़्यादा की लागत से यहां बनेंगे इनडोर स्टेडियम, गांव के टैलेंट को मिलेगा तगड़ा सपोर्ट

By Vikash Beniwal

Published on:

ग्रामीण क्षेत्रों की प्रतिभाएं पहले अक्सर गांव में ही दम तोड़ देती थीं। उन्हें अपनी खेल प्रतिभा को निखारने और देश का नाम रोशन करने के लिए शहरों का रुख करना पड़ता था। लेकिन अब कोटा जिले के ग्रामीण इलाकों में इनडोर स्पोर्ट्स हॉल के निर्माण से यह स्थिति बदलने वाली है। इन स्पोर्ट्स हॉल के निर्माण से ग्रामीण खिलाड़ियों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने का अवसर मिलेगा।

13 करोड़ रुपये की लागत से बनेंगे तीन मल्टीपरपज स्पोर्ट्स हॉल

कोटा जिले में तीन स्थानों पर करीब 13 करोड़ रुपये की लागत से मल्टीपरपज स्पोर्ट्स हॉल बनाए जा रहे हैं। इन स्पोर्ट्स हॉल में एक दर्जन से अधिक खेलों की सुविधा मिलेगी जिससे ग्रामीण क्षेत्रों की खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहन मिलेगा। केंद्रीय खेल एवं युवा मंत्रालय ने सुल्तानपुर, इटावा और रामगंज मंडी में इनडोर स्पोर्ट्स हॉल के निर्माण के लिए रुडसीको को नोडल एजेंसी बनाया है।

भारतीय खेल प्राधिकरण के मानकों के अनुसार निर्माण

इनडोर स्पोर्ट्स हॉल का निर्माण भारतीय खेल प्राधिकरण (एसएआई) के मानकों के अनुसार किया जा रहा है। हॉल के भूतल पर 40 गुणा 20 मीटर का हॉल होगा जिसमें बैडमिंटन के लिए चार कोर्ट और बास्केटबॉल, वॉलीबॉल और नेटबॉल के लिए एक-एक कोर्ट होगा। इसके अलावा हैंडबॉल और जिम्नास्टिक के मिनी कोर्ट भी होंगे जिससे विभिन्न खेलों के खिलाड़ियों को एक ही स्थान पर अभ्यास की सुविधा मिलेगी।

सुल्तानपुर

सुल्तानपुर में बन रहे बहुउद्देशीय इनडोर खेल हॉल का करीब 75 फीसदी काम पूरा हो चुका है। यहां ड्रेसिंग रूम, चेंजिंग रूम, स्टोर रूम और शौचालय बनाए जा चुके हैं जो महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग होंगे। इसके अलावा हॉल में दो दरवाजे बनाए जाएंगे। इनडोर स्पोर्ट्स हॉल का काम अक्टूबर 2023 के दूसरे पखवाड़े में शुरू हुआ था जिसे जुलाई 2024 तक पूरा करना है।

रामगंजमंडी

रामगंजमंडी में 20 फरवरी 2023 को शिलान्यास हुआ था और इसे एक साल के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था। हालांकि अब तक केवल 70 फीसदी काम ही पूरा हो पाया है। रामगंजमंडी के हनुवतखेड़ा में बन रहे इस मल्टीपरपज स्पोर्ट्स हॉल से ग्रामीण युवाओं को काफी राहत मिलेगी। इसका निर्माण रामगंजमंडी से 5 किलोमीटर की दूरी पर हो रहा है जिससे आस-पास के गांवों के खिलाड़ियों को भी इसका लाभ मिलेगा।

इटावा

इटावा में भी इनडोर स्पोर्ट्स हॉल का निर्माण कार्य प्रगति पर है। यहां का काम लगभग 50 फीसदी पूरा हो चुका है। इस स्पोर्ट्स हॉल के बन जाने से इटावा और आसपास के क्षेत्रों के खिलाड़ियों को एक उच्च स्तरीय अभ्यास सुविधा मिलेगी।

खेल सुविधाओं का विस्तार

इनडोर स्पोर्ट्स हॉल के निर्माण से ग्रामीण क्षेत्रों में खेल सुविधाओं का विस्तार होगा। इससे न केवल खिलाड़ियों को अभ्यास करने की बेहतर सुविधाएं मिलेंगी बल्कि उनके प्रदर्शन में भी सुधार होगा। सरकार की इस पहल से ग्रामीण क्षेत्रों की खेल प्रतिभाओं को निखरने का अवसर मिलेगा और वे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने कौशल का प्रदर्शन कर सकेंगे।

ग्रामीण क्षेत्रों के खिलाड़ियों का प्रोत्साहन

इन स्पोर्ट्स हॉल के निर्माण से ग्रामीण क्षेत्रों के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन मिलेगा। अब उन्हें अपने गांव से बाहर जाकर अभ्यास करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इससे उनके समय और संसाधनों की बचत होगी जिससे वे अपने खेल पर अधिक ध्यान केंद्रित कर सकेंगे।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.