home page

यूपी के इन 60 गांवों की जमीनों का अधिग्रहण करके बनेगा नया शहर, इन जिलों में बढ़ सकती है जमीन की कीमतें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के निर्देशानुसार, गोरखपुर जिला प्रशासन (Gorakhpur District Administration) ने एक महत्वपूर्ण पहल की है।
 | 
UP New City

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के निर्देशानुसार, गोरखपुर जिला प्रशासन (Gorakhpur District Administration) ने एक महत्वपूर्ण पहल की है। उप नगरीय संस्कृति (Sub-urban Culture) यानी शहर के बीच एक नया शहर बसाने की दिशा में कार्य आरंभ किया गया है। इस प्रयास के अंतर्गत बहुप्रतीक्षित 'नया गोरखपुर' (New Gorakhpur) की परियोजना को धरातल पर उतारने की कवायद शुरू हो चुकी है।

भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया में तेजी

गोरखपुर विकास प्राधिकरण (Gorakhpur Development Authority - GDA) द्वारा पहले ही इस परियोजना का प्रस्ताव शासन को भेजा जा चुका है। अब जमीन अधिग्रहण (Land Acquisition) के लिए सर्वे कार्य भी जोरों पर है। इसके तहत गोरखपुर से सटे दो क्षेत्रों के लगभग 60 गांवों में करीब 6000 एकड़ भूमि पर नया गोरखपुर का निर्माण (Construction) किया जाएगा।

चिह्नित गांव और सर्वे की प्रक्रिया

बरगदवा रोड और गोरखपुर-टिकरिया-महराजगंज मार्ग (Gorakhpur-Tikaria-Mahrajganj Route) पर कुल मिलाकर 25 गांवों को नया गोरखपुर के लिए चिह्नित किया गया है। पिपराइच और कुसम्ही क्षेत्र के 35 गांव भी इस नई योजना में शामिल किए जाएंगे। लेखपालों (Revenue Officers) को इन गांवों की सूची सौंपी गई है और वे सर्वे कार्य में जुट गए हैं।

आधुनिक सुविधाओं से लैस नया गोरखपुर

नया गोरखपुर आधुनिक सुविधाओं (Modern Amenities) से लैस होगा। प्रशासन और गोरखपुर विकास प्राधिकरण का उद्देश्य है कि इसे एक आदर्श नगरी बनाया जाए, जो वर्तमान और भविष्य की जरूरतों को पूरा करे। उम्मीद व्यक्त की जा रही है कि आगामी प्रदेश सरकार के बजट (State Government Budget) में इसकी मंजूरी की घोषणा हो।

किसानों के साथ संवाद और अधिग्रहण की प्रक्रिया

डीएम कृष्णा करुणेश (DM Krishna Karunesh) के अनुसार शहर से सटे 50 से अधिक गांवों में सर्वे के लिए राजस्व टीम (Revenue Team) को जिम्मेदारी सौंपी गई है। किसानों (Farmers) से संवाद कर अधिग्रहण की प्रक्रिया आगे बढ़ाई जाएगी। इससे न केवल नए गोरखपुर का सपना साकार होगा, बल्कि क्षेत्रीय विकास (Regional Development) में भी एक नई क्रांति आएगी।