home page

72 गांवों के किसानों के बैंक खातों में आया 105 करोड़ का बीमा क्लेम, देख़े गांवो की पूरी लिस्ट

किसानों का जीवन अक्सर मौसम की मार से जूझता रहता है। उनकी मेहनत और सपने अक्सर अनिश्चित मौसम की भेंट चढ़ जाते हैं।
 | 
deposited in the accounts

किसानों का जीवन अक्सर मौसम की मार से जूझता रहता है। उनकी मेहनत और सपने अक्सर अनिश्चित मौसम की भेंट चढ़ जाते हैं। लेकिन जब प्रकृति अपना रौद्र रूप दिखाती है तब सरकारी योजनाएं किसानों के लिए एक आशा की किरण बन कर आती हैं। हाल ही में हिसार जिले के किसानों के साथ हुई एक महत्वपूर्ण बैठक इसी आशा का संदेश लेकर आई है।

किसानों के लिए बड़ी राहत

संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने हाल ही में डीसी प्रदीप दहिया के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की। इस दौरान हिसार जिला प्रशासन ने बताया कि 72 गांवों के 90% गांवों में फसल बीमा क्लेम की राशि डाल दी गई है, जिसकी कुल राशि करीबन 105 करोड़ रुपये है। यह खबर किसान समुदाय के लिए एक बड़ी राहत लेकर आई है।

शेष राशि का शीघ्र वितरण

अधिकारियों ने यह भी आश्वासन दिया कि जिन गांवों में बकाया है, उनके बचे हुए किसानों के पैसे खातों में तुरंत डाल दिए जाएंगे। यह निर्णय किसानों की चिंताओं को कम करने में महत्वपूर्ण सिद्ध होगा।

आगामी मुआवजे की उम्मीद

खरीफ 2022 के मुआवजे के रूप में आए 47 करोड़ रुपये भी आने वाले 20 दिनों में किसानों के खातों में डाल दिए जाएंगे। इसके अलावा सीएससी से बीमा क्लेम की जो 39 हजार पॉलिसी पहले रिजेक्ट हो गई थी, उनमें से अधिकांश को अनुमति मिल चुकी है।

अब केवल 8 हजार पॉलिसी पर काम होना शेष है। जिला प्रशासन ने आश्वासन दिया है कि इन पॉलिसियों को भी शीघ्र ही ठीक कर दिया जाएगा और उसके बाद राशि को भी जल्द से जल्द किसानों के खातों में ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

क्षतिपूर्ति पोर्टल पर विशेष ध्यान

अधिकारियों ने यह भी बताया कि 2023 में क्षतिपूर्ति पोर्टल पर दर्ज किए गए सभी खराबाओं के लिए किसानों के पैसे जल्द ही उनके खातों में डाल दिए जाएंगे। यह विशेषतः उन किसानों के लिए एक गुड न्यूज है जिन्होंने पोर्टल पर अपने नुकसान की सूचना दर्ज करवाई थी।