home page

Petrol Pump Strike: हरियाणा में कल और परसों भी खुले रहेंगे पेट्रोल पंप,पेट्रोल पंपों की हड़ताल स्थगित

Petrol Pump Strike: हरियाणा के निवासियों के लिए एक बड़ी राहत की खबर है। प्रदेश में 30 और 31 मार्च को निर्धारित सभी प्राइवेट पेट्रोल पंपों की बंदी को फिलहाल टाल दिया गया है।
 | 
haryana-petrol-pump-strike-postponed

Petrol Pump Strike: हरियाणा के निवासियों के लिए एक बड़ी राहत की खबर है। प्रदेश में 30 और 31 मार्च को निर्धारित सभी प्राइवेट पेट्रोल पंपों की बंदी को फिलहाल टाल दिया गया है। इस निर्णय का आधार था पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन हरियाणा की एक मीटिंग जिसमें उन्होंने कमीशन में बढ़ोतरी न होने के कारण बंद का ऐलान किया था।

एसोसिएशन ने सरकार को अपनी मांगों को पूरा करने के लिए 15 अगस्त तक का समय दिया है और चेतावनी दी है कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो हड़ताल फिर से शुरू की जाएगी।

प्रदेश में पेट्रोल पंपों की स्थिति

हरियाणा राज्य में पेट्रोल पंपों की कुल संख्या 4,000 है जिसमें से 350 सरकारी हैं और शेष प्राइवेट स्वामित्व में हैं। इस विवाद के केंद्र में हैं प्राइवेट पेट्रोल पंप डीलर्स जिन्होंने बीते सात वर्षों से कमीशन में कोई बढ़ोतरी न होने के चलते अपनी आवाज उठाई। पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष संजीव चौधरी के अनुसार वर्तमान में डीलरों को मात्र 2 से 3 रुपए प्रति लीटर का कमीशन मिलता है जो कि उनकी लागतों को पूरा करने में अपर्याप्त है।

सरकार से अपील

एसोसिएशन ने समय-समय पर सरकारी एजेंसियों से इस मामले में बातचीत की है लेकिन अब तक उनकी मांगों को लेकर कोई सार्थक प्रतिक्रिया नहीं मिली है। डीलर्स का कहना है कि उनकी लागत बढ़ रही है लेकिन कमीशन में कोई बढ़ोतरी नहीं होने से उनके संचालन पर गंभीर प्रभाव पड़ रहा है।

नागरिकों पर प्रभाव

यदि यह हड़ताल होती तो इससे प्रदेश के नागरिकों को काफी असुविधा होती। पेट्रोल पंपों के बंद होने से न केवल आम जनता परेशान होती बल्कि आपातकालीन सेवाओं पर भी प्रभाव पड़ सकता था। इस निर्णय को टालने से नागरिकों को फिलहाल एक बड़ी राहत मिली है लेकिन यह डिसीजन अस्थाई है।