home page

HKRN JOBS: HKRN कर्मचारियों की खट्टर सरकार ने कर दी मौज, होम डिस्ट्रिक्ट में ही दी जाएगी नौकरी

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार ने हरियाणा कौशल रोजगार निगम (HKRN) बनाया है ताकि अस्थाई नौकरी पर लगे कर्मचारियों को ठेकेदारों से बचाया जा सके।
 | 
hkrn-employees-will-not-be-appointed
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार ने हरियाणा कौशल रोजगार निगम (HKRN) बनाया है ताकि अस्थाई नौकरी पर लगे कर्मचारियों को ठेकेदारों से बचाया जा सके। इससे युवा लोगों को आउटसोर्सिंग नौकरी मिलती है और इंपीएफ, ईएसआई सहित अन्य लाभ मिलते हैं। आउटसोर्सिंग पर पहले से लगभग 1 लाख 8 हजार कर्मचारियों को निगम में शामिल किया गया है।

पारदर्शी तरीके से किया जा रहा भर्ती 

निगम में युवाओं का चयन बिल्कुल पारदर्शी हो रहा है। यह निर्णय लिया गया है कि संबंधित विभाग ने हरियाणा कौशल रोजगार निगम को आवश्यकतानुसार कर्मचारियों की जो मांग भेजी है, उसे कर्मचारियों के चयन से पहले बदल दिया जा सकता है। चयनित कर्मचारी को विभाग में शामिल करना अनिवार्य होगा।

जिले में ही दी जाएगी नौकरी

संबंधित जिला और खंड में रहने वाले युवा ही नौकरी के लिए चुने जाएंगे। सभी युवा सिर्फ जिले में काम पाएंगे। जिले से बाहर कोई नौकरी नहीं मिलेगी। सरकारी युवा अब हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से विदेशों में काम पा रहे हैं। हरियाणा सरकार भी सरकारी नौकरी के लिए निरंतर प्रक्रिया चलाती रहती है। सरकार ने कहा कि ग्रुप सी और डी में लगभग 7,000 पदों पर भर्ती की जाएगी।