home page

हरियाणा में इस दिन से सब्जी मंडियों में हड़ताल का हुआ ऐलान, आढ़ती एसोसिएशन ने रखी ये मांगे

हरियाणावासियों को एक नई परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. 10 फरवरी से फल और सब्जी के व्यापारी हड़ताल पर जा सकते हैं.
 | 
commission agents went on strike

हरियाणावासियों को एक नई परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. 10 फरवरी से फल और सब्जी के व्यापारी हड़ताल पर जा सकते हैं. आढ़ती संगठन ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि कृषि विपणन बोर्ड द्वारा फल और सब्जी के व्यापारियों पर थोपी गई मार्केट फीस को वापस नहीं लिया गया तो वह 10 फरवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे.

आखिर क्या है मामला

हरियाणा आढ़ती एसोसिएशन सब्जी मंडी के प्रदेश उपप्रधान पुरूषोत्तम बुद्धिराजा ने कहा कि कोरोना काल के दौरान हरियाणा सरकार ने फल एवं सब्जियों के व्यापारियों पर 2% ड्यूटी लगाई थी लेकिन अब व्यापारियों से एकमुश्त फीस वसूली जा रही है. यह फीस 50% अधिक है और इसके अनुसार व्यापारियों को सालाना 7 से 8 लाख रुपए भरने होंगे जोकि बहुत अधिक है.

 10 फरवरी से होगी अनिश्चितकालीन हड़ताल

उपप्रधान पुरूषोत्तम बुद्धिराजा ने बताया कि फल एवं सब्जियों के व्यापारियों द्वारा इतनी बड़ी राशि का भुगतान करना आसान नहीं है. 20 दिसंबर को भी उन्होंने सांकेतिक हड़ताल किया था जिसके पश्चात कृषि मंत्री जेपी दलाल ने उन्हें यह आश्वासन दिया था कि जल्द ही फीस को हटा लिया जाएगा। परंतु इस पर कोई भी कार्यवाही नहीं की गई. इसके पश्चात रोहतक में आयोजित एक बैठक में विरोध का फैसला लिया गया.

उन्होंने बताया कि सरकार को 8 फरवरी तक के लिए चेतावनी दी गई है कि यदि 8 फरवरी तक फीस नहीं हटाई जाती है तो 10 फरवरी से फल और सब्जियों के व्यापारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे. इसके पश्चात् अब आम जनता को जो भी परेशानी होगी उसकी जिम्मेदार सरकार होगी.