home page

Haryana Ration Card: मोदी सरकार ने हरियाणा के इन गरीब परिवारों की लिस्ट पर लगाई मुहर, इस महीने से राशन सामग्री के साथ मिलेगी ये चीजें

Haryana Ration Card:हरियाणा सरकार ने गरीब (BPL) परिवारों की समस्याओं को दूर करने के लिए एक नई पहल की है।
 | 
central government

Haryana Ration Card: हरियाणा सरकार ने गरीब (BPL) परिवारों की समस्याओं को दूर करने के लिए एक नई पहल की है। अब तक केंद्र और राज्य की BPL सूची में अंतर होने के कारण राशन का आवंटन समय पर नहीं हो पा रहा था। हरियाणा सरकार ने केंद्र को अपडेटेड लिस्ट भेजी है, जिससे वार्षिक आय 1.20 लाख रुपये की बजाय 1.80 लाख रुपये वाले परिवारों को भी BPL श्रेणी में जगह मिल सकेगी।

केंद्र से मिली हरी झंडी

केंद्र सरकार (Central Government) ने हरियाणा के गरीबों के लिए अधिक राशन आवंटित करने की सहमति दे दी है। इससे उन परिवारों को भी लाभ मिलेगा, जिन्हें आवंटन की समस्याओं के कारण राशन से वंचित रहना पड़ा था।

डिप्टी सीएम का आश्वासन

खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने बताया कि राज्य सरकार ने इसी वित्तीय वर्ष से नागरिकों को सरसों (Mustard Oil) और सूरजमुखी (Sunflower Oil) के तेल का आवंटन करने का भी निर्णय लिया है। इससे पहले डीबीटी (DBT) के माध्यम से तेल की राशि खातों में भेजी जा रही थी। अब परिवारों को तेल का विकल्प चुनने की स्वतंत्रता होगी।

BPL श्रेणी में वृद्धि

दिसंबर 2022 तक बीपीएल राशनकार्डों की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है। नए बीपीएल कार्ड बनने और परिवार पहचान पत्र (Family ID) से लिंक होने के बाद लाभार्थियों की संख्या 1.79 करोड़ तक पहुंच गई है। इससे 57 लाख नए नागरिक BPL श्रेणी में जुड़े हैं।

बुनियादी सुविधाओं में सुधार

डिप्टी सीएम ने बताया कि सरकार ने सड़कों (Roads), दुर्घटना वाले ब्लैक स्पॉट्स (Black Spots) की पहचान और उन्हें दूर करने, और राजस्व विभाग को डिजिटलाइज (Digitalize) करने जैसे कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

किसानों के लिए सुविधा

बरसात से होने वाले नुकसान पर ध्यान देते हुए, राज्य सरकार ने किसानों को क्षतिपूर्ति पोर्टल (Compensation Portal) पर अपनी फसल का ब्यौरा दर्ज करने की सुविधा दी है।

आगामी प्रयास

सरकार ने प्लास्टिक की बोतलों में शराब की बिक्री पर रोक, वाटर लॉगिंग (Water Logging) की समस्या से निपटने, और कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से भर्तियों की गति बढ़ाने जैसे कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं।