home page

Haryana Private School: हरियाणा में इन प्राइवेट स्कूल संचालकों के लिए बुरी खबर, अगर 1 अप्रैल से दाखिले लिए तो होगी कार्रवाई

Haryana Private School: हरियाणा सरकार ने बिना मान्यता के चल रहे निजी स्कूलों पर कड़ी कार्रवाई का निश्चय किया है। अब से जिन निजी स्कूलों को शिक्षा विभाग से मान्यता प्राप्त नहीं है, वे नए दाखिले नहीं कर पाएंगे।
 | 
haryana Unrecognized private schools

Haryana Private School: हरियाणा सरकार ने बिना मान्यता के चल रहे निजी स्कूलों पर कड़ी कार्रवाई का निश्चय किया है। अब से जिन निजी स्कूलों को शिक्षा विभाग से मान्यता प्राप्त नहीं है, वे नए दाखिले नहीं कर पाएंगे। इस कदम का उद्देश्य शिक्षा के क्षेत्र में गुणवत्ता और पारदर्शिता सुनिश्चित करना है।

अभिभावकों के लिए सचेत करने की पहल

शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार अवैध रूप से संचालित सभी स्कूलों की सूची सार्वजनिक की जाएगी। इसका मुख्य उद्देश्य अभिभावकों को ऐसे स्कूलों में अपने बच्चों का दाखिला न करवाने के लिए सचेत करना है। इससे अभिभावक बच्चों के भविष्य के लिए सही और मान्यता प्राप्त स्कूलों का चयन कर सकेंगे।

सख्ती से निपटने की तैयारी

जिला शिक्षा अधिकारियों और मौलिक शिक्षा अधिकारियों को गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद करने की जवाबदेही दी गई है। शिक्षा विभाग ने चेतावनी दी है कि बिना मान्यता के दाखिले करने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए खंड शिक्षा अधिकारियों की रिपोर्ट पर आधारित फिजिकल वेरिफिकेशन की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के उद्देश्य

शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए न केवल अवैध स्कूलों पर नकेल कसी जा रही है, बल्कि शिक्षा विभाग उन स्कूलों पर भी नजर रखे हुए है जो एक मान्यता पर दूसरे गांव में ब्रांच चला रहे हैं। इस प्रकार की कार्यवाही से शिक्षा क्षेत्र में अनियमितताओं को रोका जा सकता है और शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ावा मिलेगा।

कड़ी निगरानी और कार्रवाई

गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों के खिलाफ छापेमारी के लिए क्लस्टर आधार पर टीमें बनाई गई हैं। ये टीमें स्कूलों की जांच करेंगी और उन्हें बंद कराएंगी, जो बिना मान्यता के संचालित हो रहे हैं। इस कार्यवाही से शिक्षा के क्षेत्र में अनुशासन और गुणवत्ता को सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी।