home page

Haryana News: हरियाणा में इस जिलें के पशुपालकों को मिली बड़ी खुशखबरी, 3 राजकीय पशु अस्पताल और 7 पशु औषधालय खोलने की मिली मंजूरी

प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि राजकीय पशु चिकित्सालयों और पशु औषधालयों का उद्देश्य पशुपालन को बढ़ावा देना है और पशुपालकों को उनके घर के पास ही पशु चिकित्सा उपचार मिलना है।
 | 
Animal farmers of this district in Haryana got great news

प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि राजकीय पशु चिकित्सालयों और पशु औषधालयों का उद्देश्य पशुपालन को बढ़ावा देना है और पशुपालकों को उनके घर के पास ही पशु चिकित्सा उपचार मिलना है। पशुपालन विभाग ने भिवानी जिले के मंढान, गोकुलपुरा और सुरपुरा कला में राजकीय पशु चिकित्सालय की स्थापना की अनुमति दी है।

इसके अलावा फरटिया केहर, सोरडा कदीम, सैनीवास, सिरसी, खरकड़ी, सेरला, रुपाणा और फरटिया केहर में पशु औषधालय बनाने की अनुमति दी गई है।

पशुपालकों के लिए आराम

 कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने बताया कि सरकार ने गांव गोकुलपुरा, सुरपुरा कला तथा मंढान में राजकीय पशु चिकित्सालय बनाए हैं, जो कई वर्षों से लोगों की मांग थी। JP Dalal ने बताया कि लोहारू क्षेत्र के फरटिया केहर, सोरडा कदीम, सैनीवास, सिरसी, खरकड़ी, सेरला तथा रुपाणा में राजकीय पशु औषधालय खोला गया है।

सरकार द्वारा जीवीएच और पशु औषधालय की स्थापना होने से पशुपालन को बढ़ावा मिलेगा और पशुपालकों को आसानी से पशु चिकित्सा मिलेगी।

वेटरनेरी सर्जन का चयन

राजकीय पशु अस्पताल में वेटरनेरी सर्जन, वीएलडीए और अन्य कर्मचारी नियुक्त होंगे। विभाग भी इसके लिए बजट देता है। पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डा. रविंद्र सहरावत ने बताया कि क्षेत्र में तीन राजकीय पशु अस्पताल की स्थापना और सात गांव में राजकीय पशु अस्पताल की स्थापना के लिए विभाग के महानिदेशक द्वारा पत्र जारी किया गया है, जिसके लिए बजट भी आवंटित किया गया है।

शीघ्र ही विभाग द्वारा गांव में स्टाफ भी नियुक्त किया जाएगा ताकि पशुपालकों को पशु चिकित्सा लेने में कोई परेशानी नहीं होगी और वे अपने घर के नजदीक ही पशु चिकित्सा सेवाएं पा सकें।