home page

Haryana Hukka Rules: खट्टर सरकार ने हरियाणा में हुक्का बार पर लिया सख्त फैसला, हुक्का परोसते पकड़े गये तो नही मिलेगी जमानत

Haryana Hukka Rules: हरियाणा सरकार ने राज्य में हुक्का बार (Ban on Hookah Bars) को लेकर एक बड़ा और महत्वपूर्ण निर्णय लिया है।
 | 
 Latest Chandigarh News in Hindi

Haryana Hukka Rules: हरियाणा सरकार ने राज्य में हुक्का बार (Ban on Hookah Bars) को लेकर एक बड़ा और महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। गृह मंत्री अनिल विज के नेतृत्व में हरियाणा विधानसभा में एक विशेष बिल पेश किया गया था, जिसे 26 फरवरी को स्वीकृति मिल गई। इस नए कानून के अनुसार अब राज्य में हुक्का परोसने और हुक्का बार खोलने या संचालित करने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है।

गैर जमानती श्रेणी में शामिल

सरकार ने इस अपराध को गैर जमानती श्रेणी में रखा है, जिससे इसकी गंभीरता को और भी बढ़ा दिया गया है। सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद (COTPA) हरियाणा संशोधन विधेयक 2024 के माध्यम से, इसे विधानसभा से मंजूरी प्राप्त हुई है। सरकार का यह कदम विशेषकर उन रिपोर्टों के जवाब में है जिनमें यह पाया गया कि होटल और रेस्तरां के हुक्का बार में निकोटीन युक्त तंबाकू परोसा जा रहा है।

हुक्का बार पर प्रतिबंध का कारण

सरकार ने इस प्रतिबंध के पीछे के कारण को भी स्पष्ट किया है। अधिकांश हुक्का बार में जड़ी-बूटियों के नाम पर तंबाकू युक्त निकोटीन और प्रतिबंधित दवाएं परोसी जाती हैं, जो धुएं और पानी के माध्यम से लोगों के शरीर में पहुँचती हैं। इससे न सिर्फ धूम्रपान करने वाले, बल्कि आसपास के लोग भी प्रभावित होते हैं।

पारंपरिक हुक्के पर कोई प्रतिबंध नहीं

हालांकि सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है कि पारंपरिक हुक्के के इस्तेमाल पर कोई प्रतिबंध नहीं है। इसका मतलब है कि गाँवों और चौपालों पर बुजुर्गों द्वारा पारंपरिक हुक्के का आनंद लिया जा सकता है, जैसा कि पहले होता आया है।

समाज पर इसका प्रभाव

हरियाणा सरकार का यह निर्णय समाज पर एक सकारात्मक प्रभाव डालने की उम्मीद है। यह न केवल युवाओं को तंबाकू और निकोटीन के हानिकारक प्रभाव से बचाएगा, बल्कि समाज को एक स्वस्थ और सुरक्षित वातावरण प्रदान करेगा।