home page

हरियाणा के इस जिले में होगा ट्रैक्ट ब्रेस्ट एग्जामिनेशन तकनीक का प्रयोग, सीएम खट्टर ने प्रोजेक्ट 'सवेरा' किया लॉन्च

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा रविवार को गुरुग्राम में अर्ली स्क्रीनिंग एंड डिटेक्शन ब्रेस्ट कैंसर प्रोग्राम का उद्घाटन किया गया
 | 
cm-manohar-lal-khattar-inaugurates-early-screening-and-detection

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा रविवार को गुरुग्राम में अर्ली स्क्रीनिंग एंड डिटेक्शन ब्रेस्ट कैंसर प्रोग्राम का उद्घाटन किया गया. इस प्रोजेक्ट का नाम सवेरा रखा गया है. अब गुरुग्राम देश का पहला ऐसा शहर हो जाएगा जहां पर ट्रैक्ट ब्रेस्ट एग्जामिनेशन तकनीक का प्रयोग होगा. विश्व स्तर पर भारत दूसरा ऐसा देश हो जाएगा जहां पर इस तरह के केंद्र को संचालित किया जाएगा. पहले नंबर पर जर्मनी का नाम आता है.

ब्लाइंड गर्ल करेंगी जांच 

गुरुग्राम के नाम अब एक और ख्याती जुड़ गई है. यह देश का पहला शहर बन चुका जहाँ ट्रेक्ट ब्रेस्ट एग्जामिनेशन तकनीक का प्रयोग होगा. इस तकनीक के तहत 6 ब्लाइंड गर्ल महिलाओं के  ब्रेस्ट की जांच करेंगी और अपनी रिपोर्ट तैयार करेंगी. परीक्षण के पश्चात यदि किसी महिला के स्तनों पर गाँठ मिलती है तो उसके बाद उसका उपचार किया जा सकेगा.

ऐसे होगा उपचार 

बढ़ते स्तन कैंसर के मामलों को देखने के लिए इस तकनीक का उपयोग होगा..  विशेषज्ञ ऐसी सलाह देते है कि 40 साल के बाद महिला ब्रेस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन करवाएं. इस तकनीक के तहत आपको तीनों उंगलियों को अपने स्तन के बाहरी स्किन पर घुमाते हुए हल्का-हल्का दबाना होता है. लेकिन यह भी ध्यान देना रखना होता है कि कहीं ब्रेस्ट के स्किन के अंदर कोई दबाव तो नहीं पड़ रहा. ऐसा करते समय पूरे ब्रेस्ट एरिया को कवर करना होता है.