home page

हरियाणा में खट्टर सरकार ने किसानों की कर दी मौज, बोली ये बड़ी बात

पंजाब (Punjab) के किसान संगठन (Farmer Organizations) हरियाणा (Haryana) की सीमाओं पर डटे हैं, जिससे दिल्ली कूच (Delhi March) की ओर उनकी उम्मीदें बढ़ गई हैं।
 | 
amid-kisan-andolan-haryana-government

पंजाब (Punjab) के किसान संगठन (Farmer Organizations) हरियाणा (Haryana) की सीमाओं पर डटे हैं, जिससे दिल्ली कूच (Delhi March) की ओर उनकी उम्मीदें बढ़ गई हैं। शंभू बॉर्डर (Shambhu Border) और खनौरी सीमा (Khanauri Border) पर तनाव (Tension) की स्थिति गहराई हुई है, जिसके चलते स्थिति और भी संवेदनशील हो गई है।

हरियाणा सरकार का बड़ा ऐलान

हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने एक बड़ा ऐलान करते हुए किसानों (Farmers) के कृषि ऋण (Agricultural Loan) पर ब्याज माफी (Interest Waiver) की घोषणा की है। इस ऐलान से सितंबर 2023 तक लिए गए कर्जों पर ब्याज और पेनल्टी (Penalty) माफ होने की सुविधा मिलेगी। इस कदम से किसान समुदाय में एक नई उम्मीद की किरण जागी है।

MSP और किसान सुविधाओं की गारंटी

मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने अपना पांचवां बजट (5th Budget) पेश करते हुए MSP (Minimum Support Price) पर 14 फसलों की खरीद की गारंटी दी है, जो किसानों की एक मुख्य मांग रही है। इसके अलावा, एक पोर्टल (Portal) के माध्यम से फसल नष्ट होने पर दावे की सुविधा ने किसानों को एक नया सहारा प्रदान किया है।

किसान आंदोलन में सरकार की नरमी

हरियाणा सरकार ने किसान आंदोलन (Farmers' Protest) पर नरमी दिखाते हुए, राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (National Security Act) के तहत किसी भी कार्रवाई से इनकार किया है। इस घोषणा ने किसानों को एक सकारात्मक संदेश दिया है।

शुभकरण की मौत और मुआवजा

खनौरी सीमा पर एक युवा किसान आंदोलनकारी, शुभकरण सिंह (Shubhkaran Singh) की मौत ने किसान समुदाय में गुस्सा और दुःख की लहर दौड़ा दी है। पंजाब सरकार (Punjab Government) द्वारा उनके परिवार के लिए 1 करोड़ रुपये के मुआवजे (Compensation) की घोषणा ने इस दुःख की घड़ी में उन्हें कुछ सांत्वना प्रदान की है।