मीठा तरबूज समझकर कही आप भी तो नही खा रहे केमिकल वाले तरबूज, मिलावटी तरबूज की इस तरीके से मिनटों में हो जाएगी पहचान

By Vikash Beniwal

Published on:

गर्मियों का मौसम आते ही तरबूज की मांग में काफी बढ़ोतरी होती है। यह फल न केवल अपने स्वाद के लिए बल्कि शरीर को ठंडा और हाइड्रेटेड रखने के गुणों के कारण भी प्रसिद्ध है। तरबूज में 90% पानी होता है जो गर्मियों में निर्जलीकरण से बचाव में सहायक होता है। इसके अलावा यह विटामिन C, विटामिन A और मैग्नीशियम जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का भी एक अच्छा स्रोत है।

केमिकल युक्त तरबूज की पहचान और उसके खतरे

हालांकि इन दिनों बाजार में केमिकल से पकाए गए तरबूजों की बिक्री बढ़ी है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते हैं। भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने हाल ही में एक वीडियो जारी करके इसकी जानकारी दी है कि किस प्रकार केमिकल युक्त तरबूज को पहचाना जा सकता है।

मिलावटी तरबूज की पहचान

कॉटन के कपड़े से चेक

तरबूज को काटकर उसके गूदे पर कॉटन का कपड़ा रगड़ें। अगर कपड़े पर लाल रंग लग जाता है तो इसका मतलब तरबूज में केमिकल की मात्रा है।

पानी की जांच

तरबूज का एक टुकड़ा पानी में डालें। यदि पानी लाल हो जाता है तो समझ लें कि तरबूज को केमिकल से पकाया गया है।

स्वाद में बदलाव

केमिकल से पकाया गया तरबूज असामान्य रूप से कम मीठा होता है। अगर तरबूज काटने पर लाल तो होता है लेकिन उसमें मिठास नहीं होती, तो यह केमिकल से तैयार हो सकता है।

केमिकल से होने वाले स्वास्थ्य जोखिम

कैल्शियम कार्बाइड जैसे केमिकल जिन्हें फलों को जल्दी पकाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है वे गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं जैसे कि किडनी और लिवर की बीमारियाँ और यहाँ तक कि कैंसर का खतरा भी बढ़ा सकते हैं।

सुरक्षित तरबूज खरीदने की टिप्स

हमेशा हरे रंग का तरबूज चुनें और उस पर सफेद दाग-धब्बों वाले तरबूजों को न खरीदें।
तरबूज को खाने से पहले अच्छी तरह पानी से धो लें।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.