home page

सरकार के इस डिसीजन से कर्मचारियों की हुई बल्ले-बल्ले, PF जमा पर मिलेगा इतना ब्याज

EPFO News Updates: भारतीय कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees' Provident Fund Organisation - EPFO) के निवेशकों के लिए एक गुड न्यूज है।
 | 
Business News In Hindi

EPFO News Updates:  भारतीय कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees' Provident Fund Organisation - EPFO) के निवेशकों के लिए एक गुड न्यूज है। सूत्रों के अनुसार पीएफ (Provident Fund - PF) पर मिलने वाले ब्याज दरों में

बढ़ोतरी का फैसला किया गया है। पीटीआई (PTI) के अनुसार 2023-24 के लिए ब्याज दर 8.25 प्रतिशत होगी, जो कि पिछले साल के 8.15 प्रतिशत से अधिक है। यह बढ़ोतरी पिछले तीन सालों में सबसे अधिक है।

पिछले साल भी हुई थी ब्याज दरों में बढ़ोतरी

मार्च 2023 में EPFO ने 2022-23 के लिए पीएफ ब्याज दर को 8.15 प्रतिशत तक बढ़ा दिया था, जबकि 2021-22 के लिए यह 8.10 प्रतिशत था। यह दर 1977-78 के बाद सबसे कम थी। इस नई बढ़ोतरी से 6 करोड़ से अधिक कर्मचारियों को लाभ होगा।

वित्त मंत्रालय के अप्रूवल की प्रतीक्षा

235वीं बोर्ड मीटिंग में श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेन्द्र यादव की अध्यक्षता में ब्याज दरों को बढ़ाने पर सहमति जताई गई। यह बढ़ोतरी वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के अप्रूवल के बाद आधिकारिक रूप से लागू होगी।

ब्याज दरों के इतिहास पर एक नजर

2019-20 के लिए ब्याज दर 8.5 प्रतिशत थी, जबकि 2018-19 में कर्मचारियों को 8.65 प्रतिशत ब्याज मिला था। 2015-16 में EPFO ने ब्याज दर को 8.8 प्रतिशत तक बढ़ाया था, जो कि मौजूदा ब्याज दर से काफी अधिक था।

निवेशकों और कर्मचारियों के लिए क्या मायने रखता है यह बदलाव?

ईपीएफओ द्वारा ब्याज दरों में की गई इस बढ़ोतरी से निवेशकों को अपने भविष्य निधि खाते (PF Account) पर अधिक लाभ मिलेगा। यह बढ़ोतरी न केवल उनके निवेश को बढ़ावा देगी बल्कि उन्हें बेहतर वित्तीय सुरक्षा (Financial Security) भी प्रदान करेगी। इस फैसले से EPFO के तहत आने वाले कर्मचारियों की बचत (Savings) में बढ़ोतरी होगी, जिससे उन्हें भविष्य में आर्थिक रूप से अधिक स्थिरता (Economic Stability) मिलेगी।