home page

प्रॉपर्टी/ज़मीन के बदले लोन लेने का है इरादा? इन बैंकों में मिलेगा 8% से भी कम ब्याज पर लोन

 | 
प्रॉपर्टी/ज़मीन के बदले लोन लेने का है इरादा? इन बैंकों में मिलेगा 8% से भी कम ब्याज पर लोन

Loan Against Property: आज के समय में अगर आपको कम समय में ही ज्यादा पैसे चाहिए, तो इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। बैंक अपने ग्राहकों को लोन के लिए कई तरह के विकल्प प्रदान करते हैं, जिनकी मदद से आप आसानी से अपनी पैसों की जरूरत को पूरा कर सकते हैं। इन्हीं में से एक विकल्प है – लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी (LAP)। घर की ज़मीन या खेती की प्रॉपर्टी पर लोन एक सिक्योर्ड लोन है जहां लोन लेने वाले को अपनी प्रॉपर्टी को गिरवी रखना होता है और इसके बदले में उसे ब्याज पर पैसे मिल जाते हैं।

ज़मीन पर लोन लेने के फायदे

कई लोग लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी को इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि इसमें पैसों के इस्तेमाल को लेकर कोई प्रतिबंध नहीं होत। इसका मतलब है कि इसके ज़रिए प्राप्त फंड का इस्तेमाल किसी भी तरह की जरूरत के लिए किया जा सकता है। उदाहरण के लिए आप अपने बच्चों की शादी, हायर एजुकेशन, बिज़नेस के विस्तार के लिए या अपने कर्ज के भुगतान के लिए इस फंड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इन बातों का रखना होगा ध्यान

इस लोन के लिए यह जरूरी है कि आपकी प्रॉपर्टी लीगल यानि आपके नाम पर होनी चाहिए। अवैध भूमि पर स्थित एक अप्रुव्ड प्रॉपर्टी या प्रॉपर्टी को बैंकों के पास गिरवी नहीं रखा जा सकता है। इसके अलावा, लोन अमाउंट और एलिजिबिलिटी तय करने में इनकम और क्रेडिट स्कोर भी अहम भूमिका निभाते हैं। अगर आप LAP के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो इसके लिए आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, नज़दीकी बैंक में जाकर भी अप्लाई किया जा सकता है। आपको एक एप्लिकेशन फॉर्म भरना होगा व अपनी इनकम, प्रॉपर्टी और पर्सनल वेरिफिकेशन से संबंधित कागजात उपलब्ध कराने होंगे।

सभी बैंक क्यों बढ़ा रही है लोन ब्याज की दरे? आम आदमी पर कितना होगा असर, अगर अपने ले रखा है लोन, तो अभी इस खबर को पढ़े

लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी से जुड़ी खास बातें

अगर आप लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी के लिए अप्लाई करना चाहते हैं, तो यहां इससे जुड़ी कुछ जरूरी बातें बताई गई हैं.

  • अन-सिक्योर्ड लोन की तुलना में सिक्योर्ड लोन कम ब्याज दर पर उपलब्ध हैं। साथ ही, अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है, तो आपको कम ब्याज दर पर लोन मिलने की संभावना बढ़ जाती है।
  • अगर आपके पास प्रॉपर्टी से जुड़े पूरे कागजात हैं, तो ऐसे में लोन प्रोसेस और अप्रुवल आसान हो जाता है। इसमें समय भी काफी कम लगता है।
  • इसके तहत, आप फ्लेक्सिबल लोन रि-पेमेंट टेन्योर प्राप्त कर सकते हैं। लोन रि-पेमेंट टेन्योर 20 वर्ष तक हो सकता है। प्रॉपर्टी का मालिक तब तक बिना किसी समस्या के अपनी प्रॉपर्टी को इस्तेमाल करना जारी रख सकता है जब तक कि वह समय पर बैंकों को अपनी ईएमआई का भुगतान करता है।
  • प्रॉपर्टी बॉरोअर के पास रखी जाती है। जब आप लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी लेते हैं तो इसमें ओनरशिप नहीं बदलता है। लेकिन, यदि आप अपना लोन नहीं चुका पाते हैं, तो आप संपत्ति को बेच भी सकते हैं।
  • जब भी आपके लिए संभव हो, आप LAP को प्री-क्लोज कर सकते हैं। हालांकि, यह करने से पहले लेंडर से जान लें कि क्या वे कोई प्री-क्लोजर शुल्क लगाते हैं। आपको इसके लिए मामूली शुल्क देना पड़ सकता है, लेकिन लोन एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करने से पहले इसे जान लेना चाहिए। यह आपको अपनी संपत्ति किराए पर देने की अनुमति भी देता है।
  • इसके अलावा, अगर आप एक सैलरीड पर्सन हैं, तो इनकम टैक्स एक्ट की धारा 24 के तहत टैक्स बेनिफिट का दावा भी कर सकते हैं। लेकिन फंड का इस्तेमाल नए रेसिडेंशियल हाउस के लिए किया जाना चाहिए. इसमें 2 लाख रुपये तक के टैक्स डिडक्शन की अनुमति है। ब्याज भुगतान पर टैक्स डिडक्शन की अनुमति है।
  • अगर लोन अमाउंट का इस्तेमाल बिजनेस के लिए किया जाता है तो धारा 37 आपको बेनिफिट का दावा करने की अनुमति देती है। आप अपने बिजनेस एक्सपेंडिचर पर टैक्स बेनिफिट का दावा कर सकते हैं, जैसे – प्रोसेसिंग फीस, इंटरेस्ट, डॉक्यूमेंटेशन फीस। याद रखें कि अगर लोन अमाउंट का इस्तेमाल शादी, एजुकेशन या मेडिकल बिल के लिए किया जाता है, तो आप टैक्स बेनिफिट का दावा नहीं कर पाएंगे।

अगर आप LAP के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो यहां 20 से अधिक बैंकों की ब्याज दरों के बारे में बताया गया है। इसकी मदद से आप 10 साल की अवधि वाले 15 लाख रुपये के लोन अमाउंट के लिए ब्याज दरों और EMI की तुलना कर सकते हैं।

प्रॉपर्टी/ज़मीन के बदले लोन लेने का है इरादा? इन बैंकों में मिलेगा 8% से भी कम ब्याज पर लोन
Interest Rate on Loan Against property