गर्मियों में कार चलाने वाले इन बातों का जरुर रखे ध्यान, कार के टायर फटने का भी नही रहेगा डर

By Vikash Beniwal

Published on:

देश के अधिकतर हिस्सों में इन दिनों भयंकर गर्मी पड़ रही है। ऐसे मौसम में गाड़ी के टायरों का रख-रखाव एक बड़ी चुनौती बन जाती है। गर्मी के दौरान लंबी यात्राओं पर टायरों का तापमान बढ़ जाने से वे फटने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए टायरों में सही हवा का दबाव बनाए रखना जरूरी होता है, खासकर जब आप गर्मी में लंबी दूरी तय कर रहे हों।

नाइट्रोजन का उपयोग क्यों जरूरी है?

आमतौर पर गाड़ी के टायरों में हवा भरी जाती है लेकिन गर्मी में नाइट्रोजन भरवाना ज्यादा बेहतर रहता है। नाइट्रोजन ठंडी होती है और इससे टायर के अंदर की हवा गर्म नहीं होती। नाइट्रोजन के मॉलिक्यूल्स हवा के मॉलिक्यूल्स की तुलना में बड़े होते हैं जिससे यह आसानी से टायर से बाहर नहीं निकलते और टायर का दबाव स्थिर रहता है।

नाइट्रोजन से लाभ

नाइट्रोजन से भरे टायर न केवल दबाव में स्थिरता प्रदान करते हैं, बल्कि उनकी शीतलता टायर की रबर को भी अधिक समय तक टिकाऊ बनाती है। इसके अलावा, नाइट्रोजन गैस ज्वलनशील नहीं होती और यह नमी को भी दावत नहीं देती जिससे टायर और रिम दोनों की लंबी उम्र होती है। टायरों में नाइट्रोजन भरवाने से उनमें जंग लगने का खतरा भी कम हो जाता है।

रिम के लिए फायदेमंद

गर्म हवा में नमी की मात्रा अधिक होती है जो रिम में जंग लगाने का काम करती है। नाइट्रोजन हवा ठंडी होने की वजह से नमी रहित होती है जिससे रिम को जंग लगने का खतरा बहुत ही कम होता है। वहीं टायर के ठंडे रहने की वजह से टायर की रबड़ भी जल्दी खराब होने से बच जाती है।

टायर निर्माता की सलाह

देश की प्रमुख टायर निर्माता कंपनी अपोलो टायर्स, नाइट्रोजन के उपयोग को टायरों के लिए एक सुरक्षित और दीर्घकालिक विकल्प के रूप में सुझाव देती है। नाइट्रोजन से भरे टायर बेहतर स्थिरता, सुरक्षा और लॉन्ग लाइफ प्रदान करते हैं। इसलिए यदि आप गर्मी के मौसम में लंबे समय तक ड्राइविंग कर रहे हैं तो नाइट्रोजन का उपयोग अवश्य करें।

Vikash Beniwal

मेरा नाम विकास बैनीवाल है और मैं हरियाणा के सिरसा जिले का रहने वाला हूँ. मैं पिछले 4 सालों से डिजिटल मीडिया पर राइटर के तौर पर काम कर रहा हूं. मुझे लोकल खबरें और ट्रेंडिंग खबरों को लिखने का अच्छा अनुभव है. अपने अनुभव और ज्ञान के चलते मैं सभी बीट पर लेखन कार्य कर सकता हूँ.